Batting Records : केदार जाधव के एकदिवसीय करियर की 5  यादगार पारियां

kedar jadhav


पुणे में जन्मे, 35 वर्षीय केदार जाधव (Kedar Jadhav) भारतीय टीम में हरफनमौला खिलाड़ी की भूमिका में नजर आते रहे हैं। उन्होंने अपना पहला एकदिवसीय श्रीलंका के खिलाफ 16 नवंबर 2014 को खेला और तब से निरंतर टीम में बने हुए हैं।

इस पांच साल अधिक के करियर में उन्होंने कई उतार चढ़ाव भी देखे हैं। उन्होंने कभी अपने बल्ले से कमाल किया तो कई बार अपनी गेंदबाजी का जादू बिखेरा। वर्ष 2017 की भारत-इंग्लैंड सीरीज और एशिया कप 2018 फाइनल में उनका प्रदर्शन भला कौन क्रिकेट प्रेमी भूल सकता है।

आइये एक नजर डालते हैं केदार जाधव के वनडे करियर की 5 यादगार पारियों पर :

5. 105 रन बनाम जिम्बाब्वे, 2015


जुलाई 2015 में जिम्बाब्वे के साथ खेलने इंडिया की टीम-बी यानी दूसरे दर्जे की टीम गई थी, जिसमें केदार भी शामिल थे। हरारे के मैदान में तीसरा एकदिवसीय खेला जा रहा था और जाधव छठे नंबर पर बैटिंग की कमान संभालने आये। टीम की हालत बुरी थी शीर्ष 5 विकेट जल्दी ही गिर गए थे।

 उन्होने इस मुकाबले में शानदार 105 रनों की पारी खेली और अपने करियर का पहला एकदिवसीय शतक जड़ा। निचले क्रम में बल्लेबाजी करते हुए शतक लगाना कोई आसान बात नहीं होती। इस शतक के साथ  वो छठे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए शतक लगने वाले चौथे भारतीय खिलाड़ी बने।

4. 23* रन एशिया कप फाइनल, 2018


2018 के एशिया कप फाइनल की पहली पारी में हरफनमौला जाधव ने पहले ही अपनी फिरकी गेंदबाजी का कमाल दिखा दिया था। बांग्लादेश को 222 पर समेटने के बाद, वक्त था अब बल्लेबाजी में जौहर दिखाने का, लेकिन इनिंग के बीच में ही मांसपेशियों में खिंचाव के चलते उन्हें बाहर की तरफ जाना पड़ा। करो या मरो की स्थिति तब आ गयी जब जडेजा भी चलते बने।

 अब केदार के अलावा, भुवनेश्वर कुमार का साथ देने के लिए कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) बचे थे। खिंचाव बावजूद जाधव ने हिम्मत दिखाई और बल्लेबाजी करने आ पहुंचे। अंतिम ओवर में 6 रनों की दरकार थी। जाधव ने खिंचाव के बावजूद लगातार तेजी से दौड़ लगाई और भारतीय टीम को जीत दिला दी। यह पारी न बहुत बड़ी है ना बहुत तेजतर्रार, फिर भी यह काफी शानदार है।

3. 90 रन बनाम इंग्लैंड, 2017


सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच, पिछले दोनो मैच जीतकर भारत की टीम अब क्लीन स्वीप पर नजरें गड़ाए बैठी थी। इस बार फिर एक बार इंग्लैंड (England) ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 321 का पहाड़ सा स्कोर खड़ा कर दिया। लक्ष्य का पीछा करते हुए एक समय तक भारत की आधी टीम 173 रन पर वापस जा चुकी थी।

यह भी पढें : 5 बल्लेबाज जिन्होंने एकदिवसीय मैचों में  पिछले पांच सालों में सबसे ज्यादा रन बनाए हैं

इस मैच में अब बड़ी हार सामने नज़र आ रही थी। केदार जाधव ने फिर एक धुंआधार पारी खेलते हुए 75 गेंदों में 90 रन बनाए। बाकी बल्लेबाज नाकाम रहे और आखिरी ओवर में बेहद कम अंतर से भारत मैच हार गया। भले ही जाधव इस करीबी मैच को भारत के झोली मे नहीं डाल सके लेकिन यह यादगार पारी रही।

2. 81* रन बनाम ऑस्ट्रेलिया, 2019

मार्च 2019 में ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत आयी हुई थी। दोनों टीमो के बीच हैदराबाद में पहला एकदिवसीय मैच खेला गया। पहले बल्लेबाजी करते हुए, ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजो ने भारत को जीतने के लिए 237 रनों का लक्ष्य दिया। जवाब में 99 रन के स्कोर पर भारत के 4 विकेट गिर चुके थे।

अब केदार जाधव मैदान में आए और टीम को जीत दिलाकर ही मैदान से वापस गए। इस दौरान उनका साथ दिया पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने। इन दोनों बल्लेबाजों ने 141 रन की साझेदारी निभाई। केदार ने 87 गेंदों का सामना करते हुए नाबाद 81 रनों की एक संतुलित पारी खेली। इस पारी के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच से भी नवाजा गया।

1. 120 रन बनाम इंग्लैंड, 2017



पुणे का मैदान और भारत-इंग्लैंड सीरीज 2017 का पहला ओडीआई मैच, इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हए भारत के सामने 351 का विशाल लक्ष्य रख दिया था। जवाब में भारत के शुरुआती 4 विकेट मात्र 67 रनों के स्कोर पर गिर गए। टीम की स्थिति बेहद खराब थी। अब जरूरत थी एक तेज और बड़ी पारी की जिसकी जिम्मेदारी उठाई केदार जाधव ने।

 विराट कोहली (Virat Kohli) ने केदार का साथ दिया और दोनों ने मिलकर 200 रनों की एक रिकॉर्ड साझेदारी कर डाली। इस जोड़ी की बदौलत भारत 11 गेंद शेष रहते ही विजयी साबित हुआ। जाधव ने 12 चौके और 6 छक्कों के साथ 120 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली वहीं कोहली ने भी शतक जमाया।

Post a Comment

Previous Post Next Post